Blood Moon 2021: साल का पहला और आखिरी पूर्ण चंद्र ग्रहण आज

Spread the love ~ to Share other Platforms

[ad_1]

आज 26 मई को साल 2021 का पहला और आखिरी Blood Moon नज़र आने वाला है। समान्यतौर पर इसे “पूर्ण चंद्र ग्रहण” कहा जाता है और अंग्रेजी में Total Lunar Eclipse के नाम से जाना जाता है। बता दें, ब्लड मून तब दिखाई देता है जब चांद पृथ्वी की छाया में छुप जाता है और आकाश में लाल रंग की रोशनी नज़र आती है। दुनियाभर के कई हिस्सों में ब्लड मून 2021 को देखा जा सकेगा। हालांकि, भारत के लोगों के लिए यह पेनुम्ब्रल चंद्र ग्रहण के तौर पर महज 5 मिनट के लिए ही दिखाई देगा।
 

Contents

Total lunar eclipse aka Blood Moon 2021 timings

NASA के अनुसार, इस साल Blood Moon 2021 या फिर पूर्ण चंद्र ग्रहण कुल मिलाकर 3 घंटे 7 मिनट तक रहने वाला है, जिसमें आंशिक ग्रहण और पूर्ण चंद्र ग्रहण शामिल होगा। वैसे पूर्ण चंद्र ग्रहण लगभग 15 मिनट तक दिखाई देने वाला है। टाइमिंग की बात करें, तो ग्रहण 08:47am UTC (भारतीय समयानुसार दोपहर 2:17 बजे) शुरू होगा। वहीं, पूर्ण चंद्र ग्रहण 11:11am UTC (भारतीय समयानुसार दोपहर शाम 4:41 बजे) दिखेगा, जो कि 11:18pm UTC (भारतीय समयानुसार शाम 4:48 बजे) तक रहेगा। पूर्ण रूप से यह चंद्र ग्रहण 01:49pm UTC ( भारतीय समयानुसार 7:19 बजे) तक खत्म होगा।
 

Will total lunar eclipse (Blood Moon 2021) be visible in India?

पूर्ण चंद्र ग्रहण 2021 उर्फ ब्लड मून 2021 दक्षिण/पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अमेरिका के अधिकांश क्षेत्रों, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक, हिंद महासागर और अंटार्कटिका में दिखाई देगा। कुछ शहरों में जहां पूर्ण चंद्र ग्रहण दिखाई देने की उम्मीद है, उनमें होनोलूलू, ह्यूस्टन, लॉस एंजिल्स, मनीला, मेलबर्न, सैन फ्रांसिस्को, सियोल, शंघाई और टोक्यो शामिल हैं। वहीं, बैंकॉक, शिकागो, ढाका, मॉन्ट्रियल, न्यूयॉर्क, टोरंटो और यांगून जैसे शहरों में यह ग्रहण आंशिक रूप से दिखाई दे सकता है। हालांकि, भारत में यह ग्रहण पेनुम्ब्रल चंद्र ग्रहण के रूप में दिखाई देगा।
 

blood

साल 2021 के बाद अगला पूर्ण चंद्र ग्रहण 16 मई 2022 को नज़र आएगा।
 

What exactly is Blood Moon?

ब्लड मून उस स्थित को कहा जाता है जब चांद की पूरी सतह लाल हो जाती है। ऐसा तभी होता है जब पृथ्वी चांद और सूरज के बीच आकर सूरज की रोशनी को सीधे चांद तक पहुंचने से रोकती है, ऐसे में पृथ्वी के वायुमंडल टक्कराकर जब रोशनी चांद की सतह पर पड़ती हैं तो यह लाल रंग में परिवरित हो जाती है, जिसे ब्लड मून कहा जाता है। इस चंद्र ग्रहण को नंगी आंखों से देखा जा सकता है, लेकिन फिर भी कहा जाता है कि इसे टेलीस्कोप के माध्यम से ही देखा जाए।  
 

What is a penumbral lunar eclipse

बाकि चंद्र ग्रहण के विपरित जहां पृथ्वी का बीच वाला हिस्सा और छाया पूरे चांद को कवर करते हैं, वहीं, पेनुम्ब्रल चंद्र ग्रहण उस स्थिति को कहा जाता है जब पृथ्वी सूर्य की कुछ रोशनी को सीधे चंद्रमा तक पहुंचने से रोकती है, पृथ्वी की छाया के बाहरी हिस्से को पेनम्ब्रा कहा जाता है।

[ad_2]
Source link

Leave a Comment

error: Content is protected !!