अब स्मार्टफोन बनेंगे नेत्रहीनों की

अब स्मार्टफोन बनेंगे नेत्रहीनों की ‘आंख’

Science News


वैज्ञानिक ऐसी मोबाइल टेक्नोलॉजी डेवलप कर रहे हैं, जिसके सहारे नेत्रहीन लोग अपने स्मार्टफोन और टैबलेट के जरिए आसपास देख पाएंगे। ब्रिटेन स्थित लिंकलोन यूनिवर्सिटी में काम कर रहे कंप्यूटर विज़न और मशीन लर्निंग के विशेषज्ञों इस तकनीक पर काम कर रहे हैं।

ये वैज्ञानिक स्मार्ट विज़न सिस्टम को मोबाइल डिवाइस में डालना चाहते हैं, ताकि नेत्रहीन या कम दिखाई देने वाले लोगों को अनजान इलाकों में चलने-फिरने में मदद मिल सके.

इस तकनीक पर हुए शुरुआती शोध के मुताबिक, रिसर्च टीम नए स्मार्टफोन व टैबलेट में कलर और डेप्थ सेंसर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके 3डी मैपिंग और लोकलाइजेशन, नेविगेशन और रिकोगनिशन (पहचान) जैसे फीचर को एक्टिव करना चाहती है.

इसके बाद टीम एक इंटरफेस डेवलप करेगी. इसमें नेत्रहीनों को कंपन, आवाज या बोले जाने वाले शब्द के सहारे आसपास की स्थिति के बारे में जानकारी दी जाएगी.

परियोजना प्रमुख निकोला बेलोटो ने कहा, “यदि लोग स्मार्टफोन जैसे डिवाइस में मौजूद टेक्नोलॉजी का उपयोग कर पाएंगे, तो उन्हें ऐसे अन्य डिवाइस का उपयोग नहीं करना पड़ेगा, जिससे उन्हें अपनी स्थिति के बारे में अत्यधिक सजग रहना पड़ता है।”

इस टेक्नोलॉजी के तहत मोबाइल या टैबलेट में लगे सेंसर से आसपास की वस्तुओं की पहचान की जाएगी और उसकी जानकारी डिवाइस का इस्तेमाल कर रहे शख्स को दी जाएगी।

उन्होंने कहा, “ऐसे स्मार्टफोन ऐप हालांकि पहले से मौजूद हैं, जो वस्तुओं की पहचान कर सकते हैं या जगह के बारे में बोल कर बता सकते हैं।”

बेलोटो ने कहा, “हमारा मकसद हालांकि ऐसे सिस्टम को डेवलप है, जो यह समझ सकता हो कि एक आदमी आसपास की चीजों के बारे में किस प्रकार महसूस करता है।”



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *